Breaking News


                क़ाज़ी फरीद अहमद.


लखनऊ: बसपा सुप्रीमो मायावती की रैली में भगदड़ मचने से तीन महिलाओं की दबकर मौत हो गई, जबकि 22 अन्य घायल हो गए. रैली का आयोजन कांशीराम स्मारक स्थल पर किया गया था.जहां सीढ़ियों पर बने दो द्वारों में से एक से लोग नीचे आ रहे थे और संतुलन बिगड़ने से एक दूसरे के ऊपर गिर पड़े. घटना में बिजनौर की 68 वर्षीय शांति देवी और एक अन्य अज्ञात महिला की दबने से मौत हो गई.

बसपा के एक प्रवक्ता ने बताया कि बिजली का तार कटने की अफवाह के चलते भगदड़ मची. घायलों को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया है. पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष राम अचल राजभर ने हालांकि कहा कि महिलाओं की मौत गर्मी और उमस की वजह से हुई. बसपा संस्थापक कांशी राम की दसवीं पुण्यतिथि पर बड़ी संख्या में बसपा कार्यकर्ता और लोग एकत्र हुए थे.
  दलितों और मुसलमानो’ पर बढ़ा अत्याचार
            उन्होंने कहा कि बीजेपी शासन में सीबीआई का इस्तेमाल अपने विरोधियों के खिलाफ किया जा रहा है. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि मोदी सरकार आरएसएस के इशारे पर आरक्षण खत्म करने की साजिश कर रही है. पहले तो मुसलमानों का उत्पीड़न होता था, लेकिन मोदी के राज में अब गोहत्या के नाम पर दलितों का उत्पीड़न हो रहा है. उन्होंने कहा कि बीजेपी शासित राज्यों में दलितों पर अत्याचार की हद हो गई है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी का वादा खोखला निकला, ढाई साल के शासन में मोदी ने एक भी वादा पूरा नहीं किया. उन्होंने अपील की कि मुसलमान अपना वोट न बंटने दें वर्ना फायदा सिर्फ बीजेपी का होगा.

Comments

Leaver your comment

Enter valid Name
Enter valid Email
Enter valid Mobile
Enter valid Message